Skip to main content

About Computer in Hindi Essay

Computer in Hindi Essay

कंप्यूटर (Computer) कंप्यूटर की बेसिक जानकारी | कंप्यूटर के बारे में जानकारी हिंदी में 


Computer in Hindi Essay
Computer in Hindi Essay

 computer vardan ya abhishap essay in hindi
कंप्यूटर शब्द की उत्पति लैटिन भाषा के “Computare” शब्द से हुई हैं| लेकिन कुछ विशेष जानकारों का मत हैं की इसकी उत्पति’ “Compute” शब्द से हुई साधारण दोनों का ही अर्थ “गणना करना” होता हैं| इसीलिए ‘कंप्यूटर’ को “गणना करने वाली मसीन” कहा जाता हैं|
इसे ‘संगणक ‘ या ‘अभिकलित्र ‘ भी कह सकते हैं |

computer ke kitne bhag hote hain
कंप्यूटर की पीडिया (Generation of Computer)
पीढी                           मुख्य घटक                    लाभ
प्रथम पीढ़ी(1940-1952)           इलेक्ट्रान                  केवल इलेक्ट्रान ट्यूब ही जरुरी
दूसरा पीढी (1952- 64)            ट्रांद्जिस्टर                 अधिक विश्वसनीयता,छोटा 
            
                                                                 आकार,तेज गति से कार्य–निष्पादन ,
                                                                                                                             कम ऊर्जा खपत
तीसरा पीढ़ी(1964-71)           इंटीग्रेटेड सर्किट (IC)        छोटा आकार,अधिक तेज,बहुत कम
                                                     ऊर्जा अधिक विश्वसनीयता
चौथा पीढ़ी(1971-…..)           वृहद एकिकृत सर्किट (ISI)   बहुत कम, ऊर्जा खपत,                             
                                                                                                                माइक्रो कम्पुटरो का  वातानुकूलन   
                                                                                                                 अनिवार्य नही, बहुत छोटा आकर ,                     
                                                                                                                 न्युनतम रख रखाव, उत्पन ऊष्मा की कमी       

About computer in hindi



21 वी सदी के कंप्यूटर (Computer in 21st Century)
(Quantum Computer) क्वांटम कंप्यूटर-
पुणे मैं भारतीय विज्ञान काँग्रेस के 87वे (3-7 जनवरी, 2000) अधिवेशन मैं प्रसिद्ध विज्ञानी ई. सी. जी. सुदर्शन ने यह बताया की क्वांटम कंप्यूटर इतना अधिक शक्तिशाली और उन्नत होगा की उसके सामने आधुनिक सुपर कंप्यूटर बेकार हो जायेगे और वह मानव दिमाग से भी आगे निकल जायेगें |
ऐसे क्वांटम कंप्यूटर अगले 5-6 सालों में बनकर तैयार हो जायेगा | इसकी प्रमुख विशेषताए निम्नलिखित होंगी-
      (1)    क्वांटम कंप्यूटर मानव मस्तिष्क से भीबेहतर होगा, क्योकि यह जटिल समस्याओ को भी बहुत कम समय मैं हल कर देगा |
      (2)    क्वांटम कंप्यूटर की क्रिया विधि दीवआधारी पध्दती पर पहचानना हैं, क्वांटम कंप्यूटर अनन्त चरों की पहचानता हैं |

सिम्प्यूटर (Simputer)
बंगलोर के institute of science के वैज्ञनिक प्रोफेसर स्वामी मनोहर और उनकी टीम ने एक छोटे और सस्ते कंप्यूटर का आविष्कार किया, जिनका प्रयोग अनपढ़ लोग भी कर सकते हैं | इसे Simple Computer कहा गया | यह हथेली के आकार का छोटा computer हैं |

पर्सनल कंप्यूटर (Personal Computer/PC)
अमेरिका के विशाल कंप्यूटर कम्पनी (IBM) को व्यक्तिगत कंप्यूटरों के निर्माण और लोकप्रिय बनाने का श्रेय दिया जाता हैं, जिसने वर्ष 1980 मैं t.v स्क्रीन जैसे मानीटर वाले पर्सनल कंप्यूटर की कड़ी बनाईं |
छमता के अनुसार पर्सनल कंप्यूटरों को तीन तरह से वगीकृत कर सकते हैं-
(1)    साधारण पी.सी.
(2)    पी.सी. एक्स. टी.
(3)    पी.सी. ए. टी.

साधारण पी. सी. कम पावर और बहुत कम सॉफ्टवेयर चलाये जाने वाले पर्सनल कंप्यूटर
है | जबकि पी. सी. एक्स. टी. पर साधारण पी. सी. की अपेक्षा ज्यादा सॉफ्टवेयर चलाये जा सकते है|
सुपर कंप्यूटर (Super Computer)
जिनका मेमोरी छमता 52 मेगाबाइट से अधिक और जो 500 ऍम फ्लाप की छमता से कार्य करे
उन्हें ‘सुपर कंप्यूटर’ कहा जाता हैं| सुपर कंप्यूटर में 32 और 64 समान्तर परिपथो में कार्य कर रहे मिक्रोप्रोसेसर की सहायता से सूचनाये पर एक साथ कार्य होता हैं जिससे इसमें 5 अरब गणनाए को एक सेकंड में सम्पादित करने की छमता आ जाती हैं|
भारत द्वारा परम 10000 नामक सुपर कंप्यूटर वर्ष 1998 में विकसित किया गया|

यह भारत के लिए एक महान उपलब्धि हैं | ज्ञात हैं कि परम 10000 स्तर का सुपर कंप्यूटर एशिया मैं भारत के अलावा चीन और जापान के पास हैं | भारत द्वारा विकसित परम 10000 सुपर कंप्यूटर अमेरिका द्वारा निर्यात प्रतिबंधित कंप्यूटरों की अपेछा 50 गुना ज्यादा शक्तिशाली हैं | सुपर कंप्यूटर परम 10000 का निर्यात कार्य सितम्बर, 1993 में शुरु हुआ था तथा इसे सितम्बर 1998 तक सी- डैक पुणे में पूरा का लिए जाने की योजना थी, लेकिन कडी मेहनत  और लगनशील से यह 6 महीने पहले ही पूर्णरूप तैयार हो गया|
परम 10000 कंप्यूटर से मौसम तथा भूकम्प विज्ञान, से सम्बंद पूर्व अनुमान लगाने, रछा क्षेत्र में तेल और प्रकृतिक, गैस के भण्डारों का पता लगाने, अस्पतालो को चिकित्सा से सम्बधि नयी जानकारीया प्रदान करने, दूर संवेदी आकलन करने में सहायता मिलती हैं|


कंप्यूटर की विशेषताएं

 
Computer in Hindi Essay कंप्यूटर (Computer) कंप्यूटर की बेसिक जानकारी | कंप्यूटर के बारे में जानकारी हिंदी में, computer vardan ya abhishap essay in hindi
Computer in Hindi Essay
कंप्यूटर (Computer) कंप्यूटर की बेसिक जानकारी | कंप्यूटर के बारे में जानकारी हिंदी में,
computer vardan ya abhishap essay in hindi
विश्व के पहले शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर
(1)    ASCIQ- इस सुपर कंप्यूटर का निर्माण प्रमुख कंप्यूटर कम्पनी ibm ने किया हैं | इस सुपर कंप्यूटर का उपयोग अमेरिकी ऊर्जा विभाग द्वारा परमाणु शस्त्रों के परीक्षण के लिए किया था|
(2)    Super Computer ‘X’- इस सुपर कंप्यूटर का निर्माण अमेरिकी संस्थान वरजीनिया टेक कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. श्रीनिधि वदरराजन ने किया हैं|
(3)    अर्थ सिमुलेटर- इस का विकास जापान के कंप्यूटर इंजिनियरों द्वारा किया गया हैं| इसमें पृथ्वी की प्राकृतिक आपदाओं (बाढ़, सखा, सुनामी, भूकम्प, ज्वालामुखी विस्फोट आदि) को समझने में सहायता मिलेगी |

दोस्तों आज का ये Article आपको कैसा लगा अगर आपने कुछ नया सिखा तो आप इसे अपने दोस्तो को शेयर जरुर करे | धन्यवाद .
More Article 
https://www.digitalking.online/2020/05/digital-marketing-ki-puri-jankari-hindi-main.html
https://www.digitalking.online/2020/05/digital-marketing-kya-hai-kise-kahate.html

Comments

Popular posts from this blog

Free Graphic Design Online

How To Offer A Free Graphic Design Online  Service To People Free Graphic Design Online As a graphic designer of some 20+ years, it is fair to say that the Online industry has significantly changed the space in just a few years. Long gone are the days of extended liquid lunch meetings with customers and looking at marketing budgets that would extend photo -shoots to some far-off foreign destination. These days small businesses and start-up companies are living hand to mouth and are not paying through the nose for a free graphic design best service that they perceive to be right or wrong, not to be given value for money. Used to be. . So what to do? Graphic designers need to make some money to stay away from their business and expand their business , while the client wants to pay as little as possible on marketing so that they can be successful. The answer lies in how customers are offering 'what they want to the customer' in this case - a quality graphic d

Digital Marketing ki puri janakari hindi main

Digital marketing  क्या है और  digital  या  online marketing  कैसे करते है  digital marketing in hindi  में पूरी जानकारी   Digital Marketing kise kahate hain- Digital Marketing kaha Use karte hain-Digital Markeing Kitne type ke hote hain. Aur Digital Marketing Ka Carrer Growth kya hain. Sare Topic Cover karege  Digital Marketing   bahut hi fast tarika hain apne product ko sahi logo tak pahuchane ka Badi badi Company apne product ko promote karne ke liye lakho rupye spent karti hain aur unhe easke Result bhi kafi acche milate hain. Esaka sabse bada Reason hain Internet par logo dawara  sabase jayada time spent karna kayoki  Internet  use karne wala Person har din 3 hours internet par bitata hain esiliye Internet sabse bada Marketing Place ban gaya hain. Ab ham ( Type of Digital Markating )  Digital Markating  Kitne prakar ke hote hain jante hain ki aap log kitne type se digital marketing kar sakate hain. Type of Digital Markating 1-Seo(Search Engine Marketing ) 

How to Earn Money Online Without Working

How to Earn Money Online Without Working- बिना काम के ऑनलाइन पैसा कैसे कमाया जाए How to Earn Money Online Without Working आज मैं आपसे इस बारे में बात करना चाहता हूं कि आप यह कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको अपने जीवन में एक और दिन काम नहीं करना है। संपूर्ण विद्यालय-कार्य-निवृत्ति चक्र (मेरी विनम्रता में, फिर भी हमेशा सटीक विचार) वास्तव में बेकार है। आपको स्कूल में वर्षों तक अध्ययन करना होगा, फिर बाहर जाना होगा और अंत में लगभग 50 वर्षों तक काम करना होगा और जब आप इसका आनंद लेने के लिए बहुत बूढ़े हो जाएंगे तो रिटायर हो जाएंगे। और इसका सामना करते हैं, कोई भी वास्तव में काम करने के उन सभी वर्षों से गुजरना नहीं चाहता है, जहां आप वास्तव में सभी के साथ रहना चाहते थे, जो कि आप जो चाहते हैं करने का समय है। ठीक है अगर मैंने तुमसे कहा था कि तुम क्या आप चाहते हैं इंतजार करने की जरूरत नहीं है? आपके पास अभी जो कुछ भी करना है, उसे करने के लिए समय हो सकता है और अंत में वर्षों तक काम नहीं करना होगा। असंभव लगता है? वैसे यह नहीं है और मैं इसे साबित करूंगा। मुझे आपसे कुछ पूछना है। इ